तुम्हारी आँख का आंसू

तुम्हारी आँख का आंसू,

हमारी आँख से निकला,

शिकायत अब भी है तुमको,

मोहब्बत हम नही करते…

(302)

Share This Shayari With Your Friends