तुम मोहोब्बत ना करना

खुद से ज्यादा भरोसा ना करना,

किसी से तुम मोहोब्बत ना करना,

क्योंकि …

रुलाती है मोहोब्बत तड़पाती है मोहब्बत,

और फिर छोड़ जाती है मोहोब्बत,

(340)

Share This Shayari With Your Friends