dard bhari hindi shyari

तेरी खिलखिलाहट नही होनी चाहिए

उसके होठों के फैलाव से ज्यादा, तेरी खिलखिलाहट नही होनी चाहिए, ओढ़ ले उसकी खुशियों का लबादा, मुस्कान तेरी चूनर नही होनी चाहिए, उसकी सोंच की हदों से ज्यादा, तेरे…Read more