मुश्किल है किसी बेवफ़ा को दिल में बसाना

मुश्किल है किसी बेवफ़ा को दिल में बसाना

आसां नही है किसी के राज़ को छुपाना, कितना मुश्किल है किसी बेवफ़ा को दिल में बसाना, चलो छोड़ो यहाँ पे सब नक़ाब पहने बैठे है, बड़ा मुश्किल है किसी…Read more
बस मेरा हमदम है और मैं हूँ

बस मेरा हमदम है और मैं हूँ

जाने क्योँ खाबों का मौसम है और मैं हूँ जाने क्योँ यादों की शबनम है और मैं हूँ यादें लायी हैं खुशियाँ भी आँसू भी जाने क्योँ इक ऐसा संगम…Read more
छिपा लें सब कुछ

छिपा लें सब कुछ

इतने माहिर नहीं हैं वो, कि छिपा लें सब-कुछ, रंग चेहरे के हकीकत का, पता देते हैं ! ख़्वाब तो देखना, पर ज़िक्र न करना उनका, लोग पलकों से भी…Read more
कोई मरहम लगाने वाला नही है

कोई मरहम लगाने वाला नही है

दर्द ज़िगर में उठा है, कोई मरहम लगाने वाला नही है, आग लगी है दिल में, कोई बुझाने वाला नही है, किस से उम्मीद रखें हम इस भरे जहां में…Read more
ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम

ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम, दुसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम, जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से, फिर भी बार बार तनहा…Read more
दोस्त को भुलाना

दोस्त को भुलाना

हमसे पुछो क्या होता है पल पल बिताना, बहुत मुश्किल होता है दिल को समझाना, यार जिंदगी तो बित जाएगी, बस मुश्किल होता है दिल में रहने वाले दोस्त को…Read more
उसका नाम जुबां से बयां होता है

उसका नाम जुबां से बयां होता है

यादों में जो बसता है उसका नाम जुबां से बयां कहां होता है, दिलबर नजर से हो कितना भी दूर, उसके पास होने का हमेशा अहसास होता है, आंखों में…Read more
पहचान भुला देती है दुनिया

पहचान भुला देती है दुनिया

इज़हार-ऐ-मोहब्बत पे सज़ा देती है दुनिया, मुँह मोड़ के गुजरो तो सज़ा देती है दुनिया, दुनिया से कभी तुम भूल कर भी प्यार न करना, परदे में मोहब्बत के धागे…Read more
इश्क़ की बूँद की खातिर

इश्क़ की बूँद की खातिर

ज़मीन से आसमान तक, इश्क़ का ही बोल बाला है, इश्क़ के करने का लेकिन, सभी का ढंग निराला है. इश्क़ करती चकोरी, चाँद उसके दिल में बसता है. इश्क़…Read more
मत पूछो ये मुझसे के कब याद आते हो

मत पूछो ये मुझसे के कब याद आते हो

मत पूछो ये मुझसे के कब याद आते हो, जब जब साँसे चलती है बहुत याद आते हो, नींद में पलकें होती है जब भी भारी, बनके ख्वाब बार बार…Read more
इश्क तो ख्वाहिश बन जाती है

इश्क तो ख्वाहिश बन जाती है

इश्क वही है जो हो एक तरफ़ा, इज़हार ऐ इश्क तो ख्वाहिश बन जाती है, है अगर इश्क तो आँखों में देखो, जुबां  खोलने से ये नुमाइश बन जाती है...!!!Read more
मुस्कुराते थे सभी दोस्त मिलकर

मुस्कुराते थे सभी दोस्त मिलकर

वक्त के पन्ने पलटकर, फ़िर वो हसीं लम्हे जीने को दिल चाहता है, कभी मुस्कुराते थे सभी दोस्त मिलकर, अब उन्हें साथ देखने को दिल तरस जाता है.Read more