तेरे नाम से माेहब्बत की है

तेरे नाम से माेहब्बत की है

तेरे नाम से माेहब्बत की है, तेरे अहसास से माेहब्ब्त की है, तुम मेरे पास नहीं फिर भी, तुम्हारी याद से माेहब्ब्त की है, जब तुम भी मुझे याद करती…Read more

मैं उनकी दुहाई पे नहीं लिखता

उनको ये शिकायत है कि मैं बेवफाई पे नहीं लिखता, और मैं सोचता हूं कि मैं उनकी रुसवाई पे नहीं लिखता, ख़ुद अपने से ज्यादा बुरा जमाने में कौन है?…Read more
तीन लफ्जों की हिफाजत ना कर सके

तीन लफ्जों की हिफाजत ना कर सके

उनको अपने हाल का हिसाब क्या देते, सवाल सारे गलत थे जवाब क्या देते। वो तीन लफ्जों की हिफाजत ना कर सके, उनके हाथ में जिंदगी की पूरी किताब क्या…Read more
कितने आंसू बहाऊँ उस के लिए

कितने आंसू बहाऊँ उस के लिए

मुझको ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं, फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई गिला नहीं, और कितने आंसू बहाऊँ उस के लिए, जिसको खुदा ने मेरे नसीब में…Read more
मेरे सिवा कुछ और नहीं दिखता

मेरे सिवा कुछ और नहीं दिखता

हर आदमी में वफा हो ऐसा हो नहीं सकता, गुलशन का हरेक फूल खुशबू दे नहीं सकता तुम मुझसे मुखातिब हो ऐसे क्यूं देखते हो, क्या मेरे सिवा तुमको कुछ…Read more

तू हासिल न हुआ

तुझपे फ़िदा करती हु में सारी जिंदगी, जिसमे तेरा नाम इस कदर शामिल हुआ, औरो से वास्ता कैसा ऐ दोस्त, जब तुझे चाहा और तू हासिल न हुआ...!!!Read more
मेरे पास वक़्त न हो

मेरे पास वक़्त न हो

कभी वक़्त मिले तो, तेरी आँखों में आँखे डालकर कुछ कहना है तुझसे, तू भी तो खुलकर इज़हार-ऐ-मोहब्बत कर मुझसे, कह दे कभी आज शाम है बस तेरे लिए, इस…Read more
इश्क तो किया था तुमने भी

इश्क तो किया था तुमने भी

हर वक़्त तेरी यादें तडपाती हैं मुझे, आखिर इतना क्यों ये सताती हैं मुझे, इश्क तो किया था तुमने भी शौंक से, तो क्यों नहीं यह एहसास दिलाती हैं तुझे...!!!Read more
तस्वीर रोने लगी

तस्वीर रोने लगी

देख कर मेरा नसीब मेरी तक़दीर रोने लगी, लहू के अल्फाज़ देख कर तहरीर रोने लगी, हिज्र में दीवाने की हालत कुछ ऐसी हुई, सूरत को देख कर खुद तस्वीर…Read more
हम टूट कर रोते हैं

हम टूट कर रोते हैं

बेताब से रहते हैं उसकी याद में अक्सर, रात भर नहीं सोते हैं उसकी याद में अक्सर, जिस्म में दर्द का बहाना सा बना कर, हम टूट कर रोते हैं…Read more
किस को भुला देते

किस को भुला देते

कहाँ कोई ऐसा मिला जिस पर हम दुनिया लुटा देते, हर एक ने धोखा दिया, किस-किस को भुला देते, अपने दिल का ज़ख्म दिल में ही दबाये रखा, बयां करते…Read more
तेरी हूं भले ही चाहे जैसी हूं

तेरी हूं भले ही चाहे जैसी हूं

तुझे खबर ही नही आज कल मै कैसी हूं, बिना पानी के रहे मीन मै भी वैसी हूं तु मान मुझे अपना या कि बिलकुल न मान, मुुझे कहते हैं…Read more
वफ़ा की बात करते है

वफ़ा की बात करते है

किसी और की बाहों में रहकर, वो हमसे वफ़ा की बात करते है, ये कैसी चाहत है यारों, वो बेवफ़ा है ये जानकार भी, हम उसी से बेपनाह प्यार करते…Read more
जिंदा है तेरा साथ पाने को

जिंदा है तेरा साथ पाने को

अब भी ताज़ा है ज़ख्म सीने में, बिन तेरे क्या रखा है जीने में, हम तो जिंदा है तेरा साथ पाने को, वरना देर कितनी लगती है ज़हर पीने में...!!!Read more
साथ छोड़ दिया

साथ छोड़ दिया

कभी अपने तो कभी पराये ने साथ छोड़ दिया। हर एक किस्मत के सताये ने साथ छोड़ दिया। क्या हाल सुनायें तुम्हे ज़िन्दगी की बेवफाई का। हमारा तो रोशनी में…Read more
मेरा अरमान हो तुम

मेरा अरमान हो तुम

मोहब्बत से मेरी अनजान हो तुम, मेरी ख़्वाहिश मेरा अरमान हो तुम !! जुदा हो जिस्म से पर जान हो तुम, मुक़म्मल इश्क़ की पहचान हो तुम !! कभी धड़का…Read more