निगाहें नेक होती है

निगाहें नेक होती है

हम जैसे आशिकों पर,

इल्ज़ाम होते है,

निगाहें नेक होती है,

मगर बदनाम होते है..!

(747)

Share This Shayari With Your Friends