नफ़रत हो जायेगी

नफ़रत हो जायेगी

नफ़रत हो जायेगी तुझे,

अपने ही किरदार से,

अगर मैं तेरे ही,

अंदाज में तुझसे बात करुं।

(1581)

Share This Shayari With Your Friends