मेरे जीने की वजह हो तुम

उसने चुपके से मेरी आँखों पर,

हाथ रख कर कहा,

बताओ कोन हूँ मे ?

मैने धीरे से मुस्कुराते कहा,

मेरे जीने की वजह हो तुम…

(1033)

Share This Shayari With Your Friends