मेरा प्यार

मेरा प्यार

उसका घुस्सा और मेरा प्यार,

एक जैसा है..

क्योकि ना तो उसका ग़ुस्सा,

कम होता है ना मेरा प्यार…

(1097)

Share This Shayari With Your Friends