जितना तुम बदल गए

नसीब से ज्यादा भरोसा,

किया था तुम पर,

नसीब इतना नही बदला,

जितना तुम बदल गए…

(2558)

Share This Shayari With Your Friends