हिंदुस्तान पर मरता है

हिंदुस्तान पर मरता है

कोई हस्ती कोई मस्ती,

कोई चाह पे मरता है,

कोई नफरत कोई मोहब्बत ,

कोई लगाव पे मरता है,

ये देश है उन दीवानों का,

यहा हर बंदा,

अपने हिंदुस्तान पर मरता है…

(2105)

Share This Shayari With Your Friends