हाथों में तेरा हाथ तो था

हाथों में तेरा हाथ तो था

तेरा मिलना भी क्या खूब अहसास तो था . ,
कुछ पल ही सही हाथों में तेरा हाथ तो था |
कुछ पल के लिए आके तेरा छोड़ के जाना
आँखों में कुछ नमी का अहसास तो था |
क्या ले गया कैसे बयां लफ्जों में करें ,
पर दे गया जो पल उनमे कुछ खास तो था |
जिंदगी यू ही गुजर जायेगी इन रास्तों पे चल कर ,
पर सब्र है कि कुछ पल तेरा साथ तो था |
जब हम उदास होंगे तो यही याद कर लेंगे ,
एक खुशनुमा लम्हा मेरे पास तो था |
तेरा मिलना भी क्या खूब अहसास तो था
कुछ पल ही सही हाथों में तेरा हाथ तो था

(4253)

Share This Shayari With Your Friends