एक दिन तनहा करके चले जायेंगे

कोई तो रोक लो उनको मेरे दिल में आने से,

मैं डरती हूँ अपनी नींदे गंवाने से,

पहले वो आयेंगे फिर उनके खयाल आयेंगे,

फिर वो धीरे धीरे दिल में बसते चले जायेंगे,

और फिर एक दिन तनहा करके चले जायेंगे…!!!

(255)

Share This Shayari With Your Friends