दिल में समाए ना होते

दिल में समाए ना होते

काश वो नगमे सुनाए ना होते,

आज उनको सुनकर ये आंसु आए ना होते,

अगर इस तरह भुल जाना ही था,

तो इतनी गहराई से दिल में समाए ना होते…

(301)

Share This Shayari With Your Friends