रोमांटिक शायरी

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है, एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है, लगने लगते है अपने भी पराए, जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता…Read more
दर्द की जब कभी इन्तहा होती

दर्द की जब कभी इन्तहा होती

दर्द की जब कभी इन्तहा होती हैं, दवा की जरुरत फिर कहाँ होती हैं, तन्हाई, बेचैनी और बस कुछ आहें, इनमे पल कर ही मोहब्बत जवां होती हैं...Read more
टूट कर बाहो में बिखर जाने दो

टूट कर बाहो में बिखर जाने दो

टूट कर बाहो में बिखर जाने दो लबो से चाहत की खुशबू चुराने दो बहुत हो गया सितम, अब तो पास आने दो, ना करना जुबां से इज़हार मोहब्बत का,…Read more
तुम्हारी बाहों में बिखर जाऊँ

तुम्हारी बाहों में बिखर जाऊँ

आ जाओ किसी रोज़ तुम तो तुम्हारी रूह मे उतर जाऊँ, साथ रहूँ मैं तुम्हारे ना किसी और को नज़र आऊँ, चाहकर भी मुझे कोई छू ना सके मुझे कोई…Read more
खोए-खोए रहते हो

खोए-खोए रहते हो

पूछते है वो हमे की खोए-खोए रहते हो, किसके खयालो में ? सोचता हूँ कह दूँ की ढूडोज़रा सनम, मिलेंगे ज़वाब मेरे तुम्हे तुम्हारे अपने सवालो में...Read more
रात गुज़र जाती है

रात गुज़र जाती है

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है, प्यास भुझ्ती नहीं बरसात चली जाती है, तेरी याद कुछ इस तरह आती है, नींद आती नहीं मगर रात गुज़र जाती है।Read more
तेरी बाहों में सहारा मिल गया

तेरी बाहों में सहारा मिल गया

मुझको फिर वही सुहाना मिल गया, नज़रो को जो दीदार तुम्हारा मिल गया, और किसी चीज़ की तमन्ना क्यूँ करू, जब मुझे तेरी बाहों में सहारा मिल गया...Read more
कितनी खूबसूरत हो तुम

कितनी खूबसूरत हो तुम

कितनी खूबसूरत हो तुम, कितना हसीन चहरा है तुम्हारा, लोग कहते हैं तुम्हे चाँद का टुकड़ा, में कहता हूँ चाँद टुकड़ा है तुम्हारा...Read more
तुम मेरी जिन्दगी मेरी काइनात हो

तुम मेरी जिन्दगी मेरी काइनात हो

एक चाहत है मेरी तुमसे प्यारी बात हो, जरा-जरा खामोश हो और लम्बी रात हो, और फिर उस रात यही बताते रहे तुमको, की तुम मेरी जिन्दगी मेरी काइनात हो...Read more
तोड़ कर हदो को आज सारी

तोड़ कर हदो को आज सारी

आँखों की गहराई में तेरी खो जाना चाहता हूँ, आज तुझे बाँहों में लेकर सो जाना चाहता हूँ, तोड़ कर हदों को आज सारी .. अपना तुझे बना लेना चाहता…Read more
अगर मैं हद से गुज़र जाऊ

अगर मैं हद से गुज़र जाऊ

अगर मैं हद से गुज़र जाऊ तो मुझे माफ़ करना, तेरे दिल में उतर जाऊ तो मुझे माफ़ करना, रात में तुझे देख के तेरे दीदार की खातिर, पल भर…Read more