दर्द-भरी शायरी

मोहब्बत बदनाम हो गई

मोहब्बत बदनाम हो गई

ऐसी बेवफाई की उसने , मोहब्बत भी बदनाम हो गई , अपनी मोहब्बत की इतनी कीमत वसूल की उसने , के हमारी अर्थी भी नीलाम हो गई .........Read more
यादों की किमत

यादों की किमत

यादों की किमत वो क्या जाने .......... जो खुद ही यादों को मिटा दिया करते है...... यादो का मतलव तो उनसे पूछो ...... जो यादों के सहारे जिन्दगी बीता दिया…Read more
टूट जाता है आइना सूरत तेरी देखकर

टूट जाता है आइना सूरत तेरी देखकर

क्यों टूट जाता है आइना सूरत तेरी देखकर, शर्मा जाती है चांदनी नज़र तेरी देखकर, तू एक पल के लिए मुस्कुरा के तो देख इधर, तेरे चाहने वालों की भीड़…Read more
मत पुछ मेरे सबर की इन्तेहाँ

मत पुछ मेरे सबर की इन्तेहाँ

मत पुछ मेरे सबर की इन्तेहाँ कहाँ तक है, तू सितम करले तेरी ताक़त जहाँ तक है, बफा की उम्मीद होगी जिन्हें होगी, ये देखना है तू जालिम कहा तक…Read more
किस्मत से अपनी सबको शिकायत

किस्मत से अपनी सबको शिकायत

किस्मत से अपनी सबको शिकायत क्यों होती है, जो नहीं मिल सकती उसी से मोहब्बत क्यों होती है, कितने दर्द है रिश्तों में दिल की, फिर भी दिल को उसी…Read more
मै किस लिए रोया था

मै किस लिए रोया था

मै किस लिए रोया था दुआ करते करते, मै क्या मांगू दुआ मेरे रब से, मै क्यों बेचैन था दुआ करते करते, आखिर में तुझी को मांग लिया मैंने, फ़क़त…Read more
आँसुओं से कोई तो गहरा नाता हैं

आँसुओं से कोई तो गहरा नाता हैं

आँसुओं से कोई तो गहरा नाता हैं छोड़ जाए साथ जब हर कोई ऐ ज़रूर साथ निभाते हैं. देखते आऐं हैं हर रात के बाद दिन रात ताकते हैं कब…Read more
खुदाई नही दीखती

खुदाई नही दीखती

इश्क मै पढ़ा कलमा खुदाई नही दीखती. किसी को किसी मै खुदाई नही दीखती. खुद कि बंदगि मै रुबाई नही दीखती. किसी को किसी मै रुबाई नही दीखती. दिल से…Read more
मेरे दर्द का इम्तहा

मेरे दर्द का इम्तहा

यू मेरे दर्द का इम्तहा ना जालिम इस तरहा जख्मो की चाहत किसे होती है तेरी हर एक चोट को शिद्दत से सहा हमने सितम उठाए बिना मुहब्बत किसे होती…Read more
टूटा हुआ दिल

टूटा हुआ दिल

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी, मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी, न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से, के मैंने आखिरी ख्वाहिश में…Read more