बेवफ़ा शायरी

आंसू से लिख दू

आंसू से लिख दू

क्या तुझे अब ये दिल बताये, क्यों तेरी बाहों में ही चेन आए, आंसू से लिख दू में तुझको, कोई मेरे बिन पड़ ही ना पाये...Read more
तुम्हारे लिये रोती है

तुम्हारे लिये रोती है

चाहते है भीगना बरसात में तो, मेरी इन आँखों में देखो, ये बरसात तो सब के लिए होती है, लेकिन-ए-मेरे दोस्त, ये आँखे सिर्फ तुम्हारे लिये रोती है...Read more
नजरे उठाना छोड़ देंगे

नजरे उठाना छोड़ देंगे

अगर वो खुश है देखकर आंसू मेरी आखो में, तो रब की कसम हम मुस्कुराना छोड़ देगे, तडपते रहेंगे उसे देखने के लिये, लेकिन उसकी तरफ, नजरे उठाना छोड़ देंगे...Read more
जागती आँखों में

जागती आँखों में

मोहब्बत के भी कुछ राज होते है, जागती आँखों में भी ख्वाब होते है, जरुरी नही है गम में ही आंसू आए, मुस्कुराती आँखों में भी सेलाब होते है...Read more
तुम ही बेबफा हो

तुम ही बेबफा हो

ना तो खुदा उसका था,ना ही जमाना उसका, तुम ही बेबफा हो,बस यही था बहाना उसका, जरा हम उनसे एक पल को रूठ क्या गए, चल दिए मुह फेर के,क्या…Read more

एक बारिश थी

मेरी मोहब्बत बेजुबा होती रही, दिल की धड़कन अपना वजुद खोती रही, कोई नही आया मेरे दुख में करिब, एक बारिश थी जो मेरे साथ रोती रही...Read more

दिल पे क्या बीतती है

इल्ज़ाम लगा देने से बात सच्ची नही हो जाती, दिल पे क्या बीतती है किसी से कही नही जाती, मजबूरियों की सूली पे चढ़ जाती है बेबफा, उनकी अपनी ही…Read more

अगर होता है गुनाह किसी से प्यार करना

जो हम प्यार के रिश्ते बनाते है, उसे लोगो से क्यों छुपाते है, अगर होता है गुनाह किसी से प्यार करना, तो बचपन से क्यों सिखाते है प्यार करना...Read more
मैने आँखों से भी लहू बहाया हैं

मैने आँखों से भी लहू बहाया हैं

मुझे क्या पता था मैने उस पगली को चाहा है, मुझे छोड़ जिसने हजारों से दिल लगाया हैं, दिल लगाकर तोड़ना तो आदत है उसकी, जिसके लिए मैने आँखों से…Read more

किसी से वफ़ा निभा बेठे

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे, यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे, वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का, और हम उनके लिये…Read more

दर्द बर्दाश्त नहीं होता

तेरे दिल के करीब आना चाहता हूँ मैं, तुझको नहीं और अब खोना चाहता हूँ मैं, अकेले इस तनहाई का दर्द बर्दाश्त नहीं होता, तू एक बार आजा तुझसे लिपट…Read more