बेबफा निकला

तू भी आईने की तरह,

बेबफा निकला…

जो भी सामने आया,

उसी का हो गया…

(283)

Share This Shayari With Your Friends