बारिश इतना ना बरस

बारिश इतना ना बरस

बारिश इतना ना बरस,

कि मेरा दोस्त ना आ सके,

आए तो इतना बरस की,

लोट के ना जा सके…!

(341)

Share This Shayari With Your Friends