आपकी तकलीफ

आपकी तकलीफ

बहोत तकलीफ होती है,

जब सामने वाला ही,

आपकी तकलीफ,

को ना समझे…

(701)

Share This Shayari With Your Friends