Monthly Archives: July 2017

तुम मेरी जिन्दगी मेरी काइनात हो

तुम मेरी जिन्दगी मेरी काइनात हो

एक चाहत है मेरी तुमसे प्यारी बात हो, जरा-जरा खामोश हो और लम्बी रात हो, और फिर उस रात यही बताते रहे तुमको, की तुम मेरी जिन्दगी मेरी काइनात हो...Read more
तोड़ कर हदो को आज सारी

तोड़ कर हदो को आज सारी

आँखों की गहराई में तेरी खो जाना चाहता हूँ, आज तुझे बाँहों में लेकर सो जाना चाहता हूँ, तोड़ कर हदों को आज सारी .. अपना तुझे बना लेना चाहता…Read more
दोस्ती अच्छी हो तो

दोस्ती अच्छी हो तो

दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है, दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है, दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है, पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो, तो इतिहास बनाती…Read more
वो अफ़साना मौत तक याद रहता हे

वो अफ़साना मौत तक याद रहता हे

दोस्त को दोस्त का इशारा याद रहेता हे, हर दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहेता हे, कुछ पल सच्चे दोस्त के साथ तो गुजारो, वो अफ़साना मौत तक याद रहता…Read more
मेरा इश्क भी कुर्बान है

मेरा इश्क भी कुर्बान है

इश्क ओर दोस्ती मेरे दो जहान है, इश्क मेरी रुह, तो दोस्ती मेरा ईमान है, इश्क पर तो फिदा करदु अपनी पुरी जिंदगी, पर दोस्ती पर, मेरा इश्क भी कुर्बान…Read more
अश्क बनकर पलकों से बहने लगे हैं

अश्क बनकर पलकों से बहने लगे हैं

तेरे बिना तन्हा हम रहने लगे हैं, दर्द के तूफानों को सहने लगे हैं, बदल गयी है इसकदर मेरी जिन्दगी, अश्क बनकर पलकों से बहने लगे हैं!Read more
अपनी साँसे छोड़ देंगे

अपनी साँसे छोड़ देंगे

हम वो नही जो तुम्हे गम में छोड़ देंगे, हम वो नही जो तुजसे नाता तोड़ देंगे, हम वो हे जो तुम्हारी साँसे रुके तो, अपनी साँसे छोड़ देंगे...!Read more
कितना दूर निकल गए

कितना दूर निकल गए

कितना दूर निकल गए रिश्ते निभाते निभाते, खुद को खो दिया हमने अपनों को पाते पाते, लोग कहते है दर्द है मेरे दिल में, और हम थक गये मुस्कुराते मुस्कुराते...Read more
लम्हों की एक किताब हैं

लम्हों की एक किताब हैं

लम्हों की एक किताब हैं ज़िन्दगी, साँसों और ख्यालो का हिसाब है ज़िन्दगी, कुछ जरुरत पूरी कुछ ख्वाहिशे अधूरी, बस इन्ही सवालों का जवाब हैं ज़िन्दगी...Read more