Monthly Archives: August 2015

मत पुछ मेरे सबर की इन्तेहाँ

मत पुछ मेरे सबर की इन्तेहाँ

मत पुछ मेरे सबर की इन्तेहाँ कहाँ तक है, तू सितम करले तेरी ताक़त जहाँ तक है, बफा की उम्मीद होगी जिन्हें होगी, ये देखना है तू जालिम कहा तक…Read more
किस्मत से अपनी सबको शिकायत

किस्मत से अपनी सबको शिकायत

किस्मत से अपनी सबको शिकायत क्यों होती है, जो नहीं मिल सकती उसी से मोहब्बत क्यों होती है, कितने दर्द है रिश्तों में दिल की, फिर भी दिल को उसी…Read more
मै किस लिए रोया था

मै किस लिए रोया था

मै किस लिए रोया था दुआ करते करते, मै क्या मांगू दुआ मेरे रब से, मै क्यों बेचैन था दुआ करते करते, आखिर में तुझी को मांग लिया मैंने, फ़क़त…Read more
आँसुओं से कोई तो गहरा नाता हैं

आँसुओं से कोई तो गहरा नाता हैं

आँसुओं से कोई तो गहरा नाता हैं छोड़ जाए साथ जब हर कोई ऐ ज़रूर साथ निभाते हैं. देखते आऐं हैं हर रात के बाद दिन रात ताकते हैं कब…Read more
खुदाई नही दीखती

खुदाई नही दीखती

इश्क मै पढ़ा कलमा खुदाई नही दीखती. किसी को किसी मै खुदाई नही दीखती. खुद कि बंदगि मै रुबाई नही दीखती. किसी को किसी मै रुबाई नही दीखती. दिल से…Read more
बहन होनी चाहिये

बहन होनी चाहिये

कैसी भी हो एक बहन होनी चाहिये..........। . बड़ी हो तो माँ- बाप से बचाने वाली. छोटी हो तो हमारे पीठ पिछे छुपने वाली..........॥ . बड़ी हो तो चुपचाप हमारे…Read more
कामियाबी तुम्हारे कदम चुमे

कामियाबी तुम्हारे कदम चुमे

कामयाबी तुम्हारे कदम चुमे, खुशियाँ तुम्हारे चारो और हो,पर भागवान से इतनी प्रार्थना करने के लिए, तुम मुझे कुछ तो कमीशन दो! मेरे प्यार (लेकिन कंजूस) भाई... "रक्षाबंधन की शुभकामनाये"Read more
मेरे दर्द का इम्तहा

मेरे दर्द का इम्तहा

यू मेरे दर्द का इम्तहा ना जालिम इस तरहा जख्मो की चाहत किसे होती है तेरी हर एक चोट को शिद्दत से सहा हमने सितम उठाए बिना मुहब्बत किसे होती…Read more